शनिवार, 11 सितंबर 2010

गणेश जी का सफर, तब से अब तक







4 टिप्‍पणियां:

  1. सुरुचिपूर्ण चयन और प्रस्‍तुति.

    उत्तर देंहटाएं
  2. अपने हर रूप में अच्छे लगते हैं बप्पा ......
    गणेश चतुर्थी की शुभकामनायें ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. ग्राम चौपाल में तकनीकी सुधार की वजह से आप नहीं पहुँच पा रहें है.असुविधा के खेद प्रकट करता हूँ .आपसे क्षमा प्रार्थी हूँ .वैसे भी आज पर्युषण पर्व का शुभारम्भ हुआ है ,इस नाते भी पिछले 365 दिनों में जाने-अनजाने में हुई किसी भूल या गलती से यदि आपकी भावना को ठेस पंहुचीं हो तो कृपा-पूर्वक क्षमा करने का कष्ट करेंगें .आभार


    क्षमा वीरस्य भूषणं .

    उत्तर देंहटाएं

Post Labels