शनिवार, 2 जनवरी 2016

डॉ. महेश परिमल - आओ समय को बोना सीखें...

छत्‍तीसगढ़ की माटी में जन्‍मे महेश परिमल का यह मानना है कि समय को काटना तभी संभव है, जब उसे बोया जाए। समय बोने की यह प्रक्रिया किस तरह की जा सकती है, ये इस लेख में आप स्‍वयं ही सुन लीजिए -

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Labels