शुक्रवार, 23 अक्तूबर 2015

बाल कहानी पिंजरा खोलो

इस कहानी में तोते की उदारता का वर्णन किया गया है। पक्षी उन्‍मुक्‍त गगन में उडना चाहते हैं। वे मनुष्‍यों के बीच रहते अवश्‍य हैं लेकिन उनका असली ठिकाना गगन की ऊँचाई है। इसे छूकर ही वे खुश रह सकते हैंं। मानवीय मूल्‍यों से जुडी ये बाल कहानी मानवता का संदेश देती है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Labels