शनिवार, 24 अक्तूबर 2015

कविता मैं अमर शहीदों का चारण

क्रांतिकारी कवि श्री कृष्ण सरल जी की यह देशप्रेम से भरी एक ओजपूर्ण कविता है। मैं अमर शहीदों का चारण कविता के माध्‍यम से वे देश के नौनिहालों में देशप्रेम जगाने का प्रयत्‍न करते हैं। देश के प्रति हमारे कर्तव्‍य की याद दिलाते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Labels