सोमवार, 26 अक्तूबर 2015

कविता युग जननी भारत माता

इस कविता में भारत माता देश के नौनिहालों से पुकार कर रही है और उन्‍हें देश के महापुरुषों जैसा बनने के लिए प्रेरित कर रही हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Labels