सोमवार, 19 अक्तूबर 2015

हरीश परमार की कविताऍं

छत्‍तीसगढ के साहित्यकारों में हरीश परमार एक जाना पहचाना नाम है। उनकी कविताएँ विशेष रूप से बाल कविताऍं काफी सराहनीय हैं। यहॉं पर उनकी कुछ जीवन की सच्‍चाई से जुडी कविताएँ आप सुन सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Labels