बुधवार, 30 मार्च 2016

कविताएँ - एकांत श्रीवास्तव

एकांत श्रीवास्त्‍व छत्तीसगढ़ की सौंधी माटी में रचे-बसे युवा साहित्यकार हैं। शरद बिल्लौरे पुरस्कार, केदार सम्मान, दुष्यंत कुमार पुरस्कार, ठाकुर प्रसाद सिंह पुरस्कार, नरेन्द्रदेव वर्मा पुरस्कार और हेमंत स्मृति कविता सम्मान से सम्मानित एकांत कलकत्ता में रेलवे में हिंदी अधिकारी के रूप में कार्यरत हैं। इसके अलावा वे साहित्यिक पत्रिका वागर्थ के संपादक हैं। उनकी कविताओं में समाज की विद्रूपताएँ रेखांकित होती हैं। सरल और सहज शब्दों के माध्यम से वे अपने मन की बात के साथ-साथ समाज की सच्चाई भी आसानी से कह देते हैं। युवा रचनाकारों में इनका नाम आदर के साथ लिया जाता है। प्रस्तुत है उनकी कुछ कविताएँ...

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Labels