सोमवार, 28 मार्च 2016

बाल कहानी - वीणा की आवाज

लेख‍िका शकुंतला दास ने यह बाल कहानी बड़े ही अनोखे ढंग से लिखी है। छोटे से गांव में सोमा नाम का एक लड़का रहता था। वह बहुत ही दयालु था। हर किसी के दुख-सुख में हमेशा आगे रहता था। पेट भरने के लिए वह लोगों की गाय-भैंस चराकर अपना गुजारा चलाता था। एक दिन उसे पशुओं को लेकर घर लौटते समय कमर में तेज दर्द हुआ। तब जंगल में एक बाबा ने उसे एक अनोखी वीणा दी, जिसकी मधुर ध्वनि सुनकर उसका सारा दर्द दूर हो गया और वह पूरी तरह से ठीक हो गया। बस फिर क्या था, बाबा ने उपहार के रूप में वह वीणा उसे दे दी। बिना किसी लालच के वह उस वीणा का उपयोग कर लोगों को स्वस्थ्‍ कर देता था। उसी गांव का एक लड़का लालची था, उसने उसकी वीणा का लालच में आकर उपयोग किया और उसे उसकी सजा भी मिली। सजा किस तरह से मिली, यह जानने के लिए सुनिए कहानी - वीणा की आवाज...

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Labels