सोमवार, 14 मार्च 2016

कहानी - दूसरा हार

बाल कहानी - दूसरा हार... राजा की न्यायप्रियता का परिचय देती है। एक ईमानदार और न्यायप्रिय राजा ही प्रजा का सच्चा हितैषी होता है। वह निस्वार्थ भाव से न्याय करता है और अपराधी को दंड देता है। कुछ इसी तरह का संदेश देती है, यह कहानी...

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Labels