सोमवार, 20 जून 2016

ग़ज़ल - सैलाब था वो...

लेखिका देवी नागरानी ने ग़ज़ल - सैलाब था वो... हमें ई-मेल के माध्यम से भेजी हैं। देवी नागरानी का नाम कथा संसार में एक जाना-पहचाना नाम है। आप ब्लाॅग के माध्यम से इनकी कहानियाँ सुनते ही हैं। अब उनके द्वारा भेजी गई इस ग़ज़ल का लुत्फ उठाइए। उम्मीद है कि आपको ये ग़ज़ल जरूर पसंद आएगी। रे ब्लॉग के माध्यम

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Labels