मंगलवार, 10 मई 2016

लघुकथाएँँ - मनोज कुमार 'श्‍िाव'

मनोज कुमार 'शिव' की लघुकथाओं में हमारेे आसपास के वातावरण का सच दिखाई देता है। कई बार जीवन में बड़ी-बड़ी घटनाएँँ भी हमें प्रभावित नहीं करती हैं और कई बार ऐसा होता है कि छोटी से छोटी घटना से ही हमारा हृदय परिवर्तित हो जाता है। हमारे विचारों में बदलाव आ जाता है अौर हमारी संवेदनाएँँ जाग उठती हैं। इसके पीछे जवाबदार होते हैं, हमारे संस्‍कार, हमारे आसपास का माहौल और हमारी सोच। कुछ ऐसी ही बातों को मनोज कुमार 'शिव' ने अपनी लघुकथाओं में शामिल किया है। विश्‍वास है ऑडियो के माध्‍यम सेे आप इन कथाओं का आनंद लेंगे...

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Labels