शनिवार, 7 मई 2016

मातृत्‍व दिवस पर विशेष - मेरे अहसास - अन्‍यूता-अंकिता

माँँ के बारे मे... हमारे जीवन में सबसे महत्वपूर्ण इंसान हमारी माँ होती है जो एक वास्तविक प्रकृति की तरह हमेशा हमारी परवरिश करती है। वो हमेशा हमारे साथ रहती है और हर पल हमारा ध्यान रखती है। ढ़ेर सारे दुख और पीड़ा सहकर वो हमें अपनी कोख में रखती है जबकि उसके वास्तविक जीवन में वो हमेशा हमारे बारे मे सोचकर खुश हो जाती है। बिना किसी शिकायत के वो हमें जन्म देती है। पूरे जीवन भर हम उसके सच्‍चे प्यार और परवरिश की तुलना किसी और से नहीं कर सकते इसलिए हमारा कर्तव्‍य है कि हम हमेशा उसको प्यार और सम्मान देंं। हर वो इंसान जिसके पास माँ है वो दुनिया का सबसे खुशनसीब इंसान है और उसे माँँ के रूप में भगवान से ढ़ेर सारा आशीर्वाद मिला हुआ है। एक माँ बेहद सामान्य महिला होती है जो अपने बच्चों की खुशी के आगे अपनी खुशी को कुछ नहीं समझती। वो हमेशा हमारी हर क्रिया और हँसी में अपनी रुचि दिखाती है। उसके पास एक स्वार्थहीन आत्मा है और प्यार तथा जिम्मेदारी से भरा दयालु मन है। आत्मशक्ति से भरी वो एक ऐसी महिला है जो हमें जीवन की कठिन से कठिन चुनौती का सामना करना सिखाती है। जीवन की सभी कठिनाईयों से उबारती है. वो हमें हमेशा हमारे जीवन में अच्छीी चीजों को पाने के लिये प्रेरित करती है। वो सभी के जीवन की पहली अध्यापक होती है जिसकी शिक्षा पूरे जीवन भर कीमती और लाभप्रद साबित होती है। ऐसे ही कुछ अहसास सुनिए ऑडियो की मदद से...

1 टिप्पणी:

  1. मदर्स डे की हार्दिक शुभकामनाओं सहित , " ब्लॉग बुलेटिन की मदर्स डे स्पेशल बुलेटिन " , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं

Post Labels